Police Patrika

इंडियन प्रीमियर लीग सीजन 13 के दूसरे मुकाबले के बाद खराब अंपायरिंग को लेकर छिड़ा विवाद अभी थमा नहीं है. अंपायरिंग के लेवल को बेहतर बनाने के लिए तकनीक के अधिक इस्तेमाल की मांग की जा रही है. किंग्स इलेवन पंजाब और दिल्ली कैपिटल्स के मैच में शॉर्ट रन के मामले में अंपायर से चूक हुई और इसका नतीजा किंग्स इलेवन पंजाब को मैच गंवाकर भुगतना पड़ा.

 

किंग्स इलेवन पंजाब के सह मालिक नेस वाडिया ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग में बीसीसीआई को अंपायरिंग का स्तर बेहतर करना चाहिये और तकनीक का अधिकतम इस्तेमाल होना चाहिए. दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ सुपर ओवर में पंजाब की हार से पहले अहम समय पर मैदानी अंपायर नितिन मेनन ने शॉर्ट रन का विवादित कॉल लिया था. लेकिन टीवी रिप्ले से जाहिर था कि वह रन पंजाब को मिलना चाहिये था .

 

वाडिया ने कहा, ''यह बहुत दुखद है कि तकनीक के अधिकतम इस्तेमाल के इस दौर में भी हम क्रिकेट मैच में पूरी पारदर्शिता और निष्पक्षता के लिये तकनीक का उस तरह इस्तेमाल नहीं कर रहे, जैसे ईपीएल या एनबीए में होता है.''

 

उन्होंने कहा, ''मैं बीसीसीआई से अनुरोध करूंगा कि अंपायरिंग का स्तर बेहतर हो और तकनीक का अधिकतम इस्तेमाल किया जाये ताकि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ लीगों में शुमार इस लीग की निष्पक्षता और पारदर्शिता बनी रहे.''

 

वाडिया ने बीसीसीआई से आईपीएल नियमों में बदलाव की मांग भी की है. वाडिया का मानना है कि अगर बीसीसीआई नियमों में बदलाव करती है तो ऐसी घटनाओं में कमी देखने को मिल सकती है.

Leave Your Message

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

Stay Connected

Get Newsletter

Featured News

Advertisement

भारतीय सेना

भारतीय पुलिस

अपराध

व्यापार

विशेष

राशिफल

संपादक