Police Patrika

पूर्णिया. जिले का हिस्ट्रीशीटर (Criminals) और तीन दशक से पुलिस की नाक में दम करने वाले और 50 हजार के इनामी अपराधी भूषण यादव और अखिलेश यादव पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं. एसपी दयाशंकर ने बताया कि रघुवंश नगर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी की ये दोनों कुख्यात अपराधी सिसवा गांव में किसी अपराध की योजना बना रहे हैं. इसके बाद एसटीएफ (STF) की मदद से धमदाहा एसडीपीओ के नेतृत्व में छापामारी कर आखिरकार जिला अपराधी अखिलेश यादव और भूषण यादव को गिरफ्तार किया गया.

इनके पास दो देशी कट्टा, पांच कारतूस और बाइक बरामद हुई है. एसपी ने कहा कि पिछले 15-20 वर्षों में इन अपराधियों ने गैंगवार, हत्या जैसी कई जघन्य घटनाओं को अंजाम दिया है. इनके ऊपर दर्जनों संगीन मामले अलग-अलग थानों में दर्ज हैं. बड़हरा, रघुवंश नगर के अलावे मधेपुरा,सहरसा और सुपौल जिले में भी इन दोनों के ऊपर कई मामले दर्ज हैं.

जनवरी महीने में भी मोजम पट्टी में हुए कई हत्याकांड में इन दोनों की संलिप्तता थी. इन दोनों के ऊपर 50-50 हजार रुपये का इनाम भी था. एसपी ने कहा कि इनके आपराधिक इतिहास को खंगाला जा रहा है . गौरतलब है कि भूषण यादव सिसवा के पूर्व मुखिया बालो यादव का पुत्र है. पिछले तीन दशकों से बालों यादव और बूचन यादव गिरोह के बीच उस इलाके में दर्जनों बार गैंगवार हुए हैं जिसमें अब तक 30 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

बूचन यादव और बालो यादव के मरने के बाद दोनों के बेटों ने गिरोह की कमान संभाल ली थी. बालो यादव के गिरोह की बागडोर कुख्यात अपराधी अखिलेश यादव और बालो यादव के बेते भूषण यादव के हाथों में थी जबकि बूचन यादव के पुत्र साहिल सौरव ने बूचन गिरोह की कमान संभाल रखी थी. पिछले 3 वर्षों में इन दोनों के बीच कई बार गैंगवार हुई है, जिसमें कई निर्दोषों समेत 10 लोगों की हत्या हो चुकी है.
दोनों गिरोहों के पास कई बड़े और अत्याधुनिक हथियार भी हैं जिससे इन लोगों ने कई बार आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया है. एसपी ने कहा कि साहिल सौरभ और जयचंद यादव भी पहले ही गिरफ्तार कर के जेल भेजे जा चुके हैं. अब अखिलेश और भूषण यादव की गिरफ्तारी से उस इलाके में गैंगवार थमने की संभावना तो है ही वहीं दूसरी तरफ पंचायत चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न होने की संभावना भी जताई जा रही है.

Leave Your Message

Don’t worry ! Your email address will not be published. Required fields are marked (*).

Stay Connected

Get Newsletter

Featured News

Advertisement

भारतीय सेना

भारतीय पुलिस

अपराध

व्यापार

विशेष

राशिफल

संपादक